Previous
Next

शुक्रवार, 20 जनवरी 2017

भारत का चीन को मुंहतोड़ जवाब, ‘ भीख  में नहीं चाहिए एनएसजी सदस्यता’

भारत का चीन को मुंहतोड़ जवाब, ‘ भीख में नहीं चाहिए एनएसजी सदस्यता’


एनएसजी की सदस्यता हमें गिफ्ट में नहीं चाहिए

दरअसल, भारत ने चीन के तंज के जवाब में ये बात कही है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने गुरुवार को कहा कि हमारी दावेदारी हमारे परमाणु अप्रसार के शानदार रिकॉर्ड पर आधारित है। किसी के गिफ्ट की मोहताज नहीं है। हाल ही में चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था कि अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा जाते-जाते किसी को ‘विदाई गिफ्ट’ के तौर पर एनएसजी सदस्यता नहीं दे सकते। इससे पहले ओबामा प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि एनएसजी सदस्यता के लिए भारत की दावेदारी की राह में चीन ‘रोड़ा’ है। 
अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर बराक ओबामा का कार्यकाल पूरा होने वाला है। इससे पहले ओबामा प्रशासन ने कोशिश की थी कि भारत को इसमें प्रवेश मिल सके। अमेरिकी दक्षिण एवं मध्य एशियाई मामलों की सहायक विदेश मंत्री निशा देसाई बिसवाल ने भी कहा कि एनएसजी में भारत की सदस्यता में रोड़े अटकाने वाला एकमात्र चीन है।
चीन नहीं चाहता कि भारत एनएसजी का सदस्य बने
बिसवाल के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा था, ‘एनएसजी की सदस्यता दोनों देशों के लिए फेयरवेल गिफ्ट जैसा नहीं है जिसका आपस में लेन-देन कर लें और नॉन-एनपीटी देशों की इस ग्रुप में प्रवेश को लेकर चीन अपने बयान पर कायम है।‘ चीन के अनुसार बिना परमाणु अप्रसार संधि (एनपीटी) पर हस्ताक्षर किए किसी भी देश की इस समूह में प्रवेश नहीं मिल सकता है। चीन का कहना है कि भारत के आवेदन के बारे में सोचने से पहले चीन को नॉन-एनपीटी देशों के बारे में एक सामान्य रवैया अपनाना होगा।
चीन नहीं चाहता कि भारत एनएसजी का सदस्य बने। एनएसजी के ज्यादातर सदस्यों के समर्थन के बावजूद चीन भारत की दावेदारी को इस आधार पर लटका चुका है कि भारत ने परमाणु अप्रसार संधि (एनपीटी) पर दस्तखत नहीं किया है। इसके अलावा चीन एनएसजी सदस्यता के लिए पाकिस्तान का खुलकर समर्थन कर रहा है। पाकिस्तान ने भी एनएसजी सदस्यता के लिए आवेदन कर रखा है और उसने भी एनपीटी पर दस्तखत नहीं किया है। 
56 मुस्लिम देशों के बीच भी इजराइल का अस्तित्व है, उसका एकमात्र कारण है यहूदियों की एकता

56 मुस्लिम देशों के बीच भी इजराइल का अस्तित्व है, उसका एकमात्र कारण है यहूदियों की एकता



हिन्दुओ में वो एकता होती जो यहूदियों में है, तो आज मक्का मदीना में भी भगवा लहरा रहा होता, हिन्दुओ का हाल तो इतना बुरा है की 
उनके देश तक को तोड़ दिया गया, और उस इलाके से हिन्दुओ को विलुप्त ही कर दिया गया, इजराइल से सीख ले सकते है हिन्दू, अगर एक अच्छा भविष्य चाहते है तो, अन्यथा पर्शिया की तरह भारत भी लुप्त हो ही जायेगा 
आप को जानकर  हैरानी होगी की इजराइल दुनिया के सबसे छोटे देशो में से एक है जो की चारो तरफ से दुश्मन देशो से घिरा हुआ है और इसके दुश्मन देश ऐसे है जो इसे किसी भी तरीके से खत्म कर देना चाहते है 
लेकिन फिर भी इजराइल किसी भी दुश्मन देश से नही डरता बल्कि दुश्मन देश इसके नाम से कांपते है . ये तो आप जानते है की isis ने पूरी दुनिया में अपना आतंक मचाया है . ये सरेआम लोगो को मार देते है पर ये भी इजराइल से बहुत डरते है इसलिए अब तक इन्होने इजराइल की तरफ देखा भी नही है . 

इस्लामी स्टेट इस बात से भली-भांति परिचित है की अगर इजराइल को हमने थोडा सा भी उकसाया तो ये मिसाईल दागने में ज्यादा समय नही लगायेगे जिससे की isis का नामो-निशान तक मिट जाएगा .

आप को ये भी बता दे की इजराइल के दुश्मन देश भी इजराइल के बारे में यही कहते है की इजराइल घर में घूस कर अपने दुश्मनों को मारता है . इजराइल ने ये नाम अपने देश के लोगो की वजह से कमाया है जो की अपने देश को पुरे दिलो-जान से प्यार करते है .

विडियो में हम आप को इजराइल के कुछ रोचक तथ्यों के बारे में बताने जा रहे है जिसके बारे में शायद ही आप ने पहले सुना होगा . इजराइल की इस विडियो को देख कर जरुर शेयर करे ताकि और भी इसके बारे में जान सके …


हमारे भारत का बहुत बड़ा हिस्सा काट दिया गया है, और बचे कूचे भारत की स्तिथि भी दिन प्रतिदिन दयनीय होती जा रही है 
अगर आज हिन्दू भी यहूदियों से कुछ सीख लेते है, और एकजुट होते है, तो ही भारत भविष्य में रहेगा, अन्यथा इसकी स्तिथि भी पर्शिया की तरह हो जाएगी जो लुप्त हो गया और उसकी जगह आज 99% इस्लामिक देश ईरान खड़ा है 

गुरुवार, 19 जनवरी 2017

अपनी आखिरी स्पीच में मोदी का नाम लेकर रो पड़े ओबामा, बोले – आप जैसा कोई नहीं मोदी जी

अपनी आखिरी स्पीच में मोदी का नाम लेकर रो पड़े ओबामा, बोले – आप जैसा कोई नहीं मोदी जी

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने बुधवार को व्हाइट हाउस में आखिरी न्यूज कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने भारत और अमेरिका के रिश्तों पर भी बात की। ओबामा ने कहा कि दोनों देशों के बीच रिश्ते बेहतर हुए हैं। इस दौरान वह भावुक भी हुए। इतना ही नहीं बराक ओबामा ने प्रधानमंत्री मोदी को फोन कर धन्यवाद भी दिया। बता दें ओबामा के दूसरे कार्यकाल का गुरुवार को अंतिम दिन है। शुक्रवार को डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिकी राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे।


बराक ओबामा ने किया मोदी को फोन 
अमेरिकी राष्ट्रपति ऑफिस व्हाइट हाउस के अुनसार ओबामा ने बुधवार को मोदी को फोन किया और उनकी ‘साझेदारी’ के लिए धन्यवाद दिया। इस बातचीत के दौरान ओबामा ने इस बात के लिए भी धन्यवाद दिया कि मोदी के कार्यकाल के दौरान प्रतिरक्षा, सिविल न्यूक्लयिर एनर्जी के लिए संयुक्त प्रयासों की समीक्षा की गई और दोनों देशों के बीच के नागिरकों के बीच संपर्क बढ़ाने पर जोर दिया गया।


सबसे लोकप्रिय राष्ट्रपति हैं ओबामा 
 ओबामा शुक्रवार को जब व्हाइट हाउस से विदा होंगे तो उनकी लोकप्रियता का ग्राफ बहुत ऊंचा होगा और बहुसंख्यक अमेरिकी उनकी कमी महसूस करेंगे। एक सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है। एक सर्वे में पता चला कि ओबामा की लोकप्रियता का आंकड़ा 60 फीसदी है जो उनके पदभार संभालने के पहले साल के जून के बाद से सर्वश्रेष्ठ है। पूर्व के कुछ राष्ट्रपतियों से तुलना करें जो ओबामा लोकप्रियता की सूची में शीर्ष पायदान पर जगह पाते हैं। जनवरी, 2001 में पद से विदा होने के समय बिल क्लिंटन की लोकप्रियता 66 फीसदी थी और जनवरी, 1989 में रोनाल्ड रीगन की लोकप्रियता का ग्राफ 64 फीसदी पर था।

अरविन्द केजरीवाल पर बड़े घोटाले का आरोप, अपने सगे साढू को ठेका देकर लूट लिए 300 करोड़ रुपये

अरविन्द केजरीवाल पर बड़े घोटाले का आरोप, अपने सगे साढू को ठेका देकर लूट लिए 300 करोड़ रुपये

cm-arvind-kejrwal-rs-300-crore-scam-exposed-by-rti-activist

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर एक RTI कार्यकर्त्ता ने करीब 300 करोड़ के घोटाले का आरोप लगाया है और यह घोटाला अरविन्द केजरीवाल ने अपने सगे साढू को ठेका देकर और उनसे फर्जी बिल बनवाकर किया है। 

आरोप के अनुसार केजरीवाल ने अपने सगे साढू को ठेका दिया, उनके साढू ने करोड़ों रुपये का फर्जी बिल जमा किया और केजरीवाल सरकार ने उसे करोड़ों का पेमेंट दे दिया, बाद में लूट के माल को बाँट लिया गया।
4 करोड़ इंडियंस हमारे ऐप से शॉपिंग करते है, कुछ लोग नाराज हो भी जाएं तो क्या फर्क पड़ता है : अमेज़न

4 करोड़ इंडियंस हमारे ऐप से शॉपिंग करते है, कुछ लोग नाराज हो भी जाएं तो क्या फर्क पड़ता है : अमेज़न

डोरमैट में तिरंगा !
चप्पल में शिव जी !
अंडरवियर में हिन्दू देवी देवता
जूते में तिरंगा 
ऐसी चीजें बेचने वाले Amazon के CEO "Jeff Bezos" (दुनिया के सबसे धनिक इन्सानों में से एक)


ये दुनिया का पांचवा सबसे अमीर आदमी है 
इसको घमंड है कि, "अमरीका का राष्ट्रपति भी मेरा कुछ नही बिगाड़ सकता, इंडियन्स की क्या औकात"।

40 मिलियन यानि 4 करोड़ भारतियों ने Amazon app डाउनलोड कर रखी है , 
अगर कुछ भारतीय नाराज भी हो जाये तो क्या फर्क पड़ता है
काम न करने वाले सरकारी कर्मचारियों की अब खैर नहीं, भारत को मोदी बदल रहे हैं

काम न करने वाले सरकारी कर्मचारियों की अब खैर नहीं, भारत को मोदी बदल रहे हैं

ये खबर लिखते हुए हमे बेहद हर्ष हो रहा है, क्योंकि हम इसी देश के लोग  हैं और इस देश के लिए कुछ अच्छा होता है तो हमे बेहद ख़ुशी होती है 
अगर हम आपको कहें की, नोटबंदी से भी बड़ा काम भारत में होने की शुरुवात हो चुकी  है, और नरेन्द्र मोदी ये काम कर रहे हैं, तो आप सोचेंगे की नोटबंदी से बड़ा क्या होगा 

आपको खबर हम नीचे बताएँगे, पहले कृपया ये कुछ लाइन पढ़ लीजिये 

* हमारे यहाँ किसी को सरकारी नौकरी मिल जाती थी, तो उसकी मानसिकता हो जाती थी, चाहे कुछ करो  न करो नौकरी तो रहेगी और तनख्वाह हर महीने आती ही रहेगी 
* सरकारी बाबु  हो, पुलिस वाले हो, पोस्ट ऑफिस वाले हो, सरकारी शिक्षक हो, वन विभाग वाले हो, म्युनिसिपेलिटी वाले हो, पटवारी हो, ये सब सरकारी नौकरी पाकर संतुष्ट हो जाते थे 
भारत को सबसे अधिक नुक्सान ये सरकारी बाबु ही पहुंचा रहे  थे, काम करते ही नहीं 
सिर्फ 1% ही इनमे ईमानदारी बची थी, बाकि 99% कामचोर और आलसी थे, सैनिको को छोड़ बाकि सरकारी कर्मचारियों का हाल बहुत ही बुरा था और अभी भी है 

अब आपको हम खबर बता देते है, जो आज घटित हुई 
मोदी सरकार ने 2 आईपीएस अधिकारियों की हमेशा के लिए छुट्टी कर दी क्योंकि वो काम करते नहीं थे, बस सरकारी नौकरी की मौज काट रहे थे 
ये अफसर थे, छत्तीसगढ़ के 1992 बैच के आईपीएस अफसर राजकुमार देवांगन 
तथा 1998 बैच के आईपीएस अफसर मयंकशील चौहान 

मोदी सरकार भारत को बदल रही है, और आलसी कामचोर सरकारी बाबुओ को ठीक करने की तरफ ये एक शानदार काम है, प्राइवेट नौकरी में काम न करने वाले की तनख्वाह भी कट होती है 
और निकाला भी जाता  है, इन सरकारी बाबुओं का हाल ये था की, काम तो करेंगे नहीं, छुट्टियां भी लेंगे और पूरी तनख्वाह भी लेंगे 
पुरे भारत की स्तिथि ही सरकारी बाबुओं के कारण जर्जर हो चुकी थी, अब भारत बदल रहा है और मोदी उसे बदल रहे है, और हमे अच्छा लग रहा है 

नोट : ऐसा फैसला वही सरकार ले सकती है जो स्वयं भ्रष्ट न  हो, अगर सरकार भ्रष्ट है तो ऐसे फैसले नहीं ले सकती, वरना सरकारी बाबु निकाले जाने के बाद सरकार की पोल ही खोलने लगेंगे 
इस फैसले से साफ़ है की ऐसा करने वाली मोदी सरकार भ्रष्ट नहीं है 
केरल के कन्नूर में वामपंथी जिहादियों ने की 44 साल के हिन्दू व् बीजेपी कार्यकर्त्ता की काटकर हत्या

केरल के कन्नूर में वामपंथी जिहादियों ने की 44 साल के हिन्दू व् बीजेपी कार्यकर्त्ता की काटकर हत्या

केरल में एक के बाद एक हिन्दुओ की वामपंथी जिहादी हत्या कर रहे है 
पर हमारी मीडिया 1 घटना की खबर भी नहीं दे रही, जैसे केरल में सबकुछ सामान्य है और कुछ हुआ ही नहीं 
परसो की हमने आपको खबर दी थी  की, केरल के पल्लकड़ में वामपंथी जिहादियों ने बीजेपी कार्यकर्त्ता कनन की पत्नी विमला को जिन्दा जलाकर मार डाला 

Image result for keral pallakad vimla

और अभी आज शाम केरल के मुख्यमंत्री विजयन के ग्रह छेत्र में वामपंथी जिहादियों ने एक और हिन्दू की हत्या कर दी 

ऊपर जो तस्वीर में आप जिस  शख्स को देख रहे है, वो अब हमारे बीच नहीं है 
इनका नाम संतोष कुमार  था, और आज केरल के कन्नूर में वामपंथी जिहादियों ने धारदार हथियारों से काटकर इनकी हत्या कर दी 

संतोष का इतना कसूर था की वो बीजेपी का तथा संघ का कार्यकर्त्ता था 
और उसने वामपंथियों के गिरोह में शामिल होने से इनकार कर दिया, उसने गौमांस खाने से इनकार कर दिया 
सनातन धर्म को गाली देने से इनकार कर दिया 
और इसी कारण वामपंथी जिहादियों ने धारदार हथियारों से संतोष कुमार को काटकर मार डाला 

मीडिया ये खबर बिलकुल नहीं बताएगी क्योंकि हमलावर वामपंथी तथा जिहादी  थे, और ये घटना केरल की है जहाँ वामपंथियों की सरकार चल रही है, हिन्दुओ पर बर्बर अत्याचार इस देश में खबर भी नहीं बन पा रही 
वहीँ अख़लाक़ मीडिया डिबेट पर छा जाते है 

बुधवार, 18 जनवरी 2017

चीन ने उगला जहर, "भारत को बना लेंगे गुलाम, 10 घंटे में चीनी सेना दिल्ली में होगी"

चीन ने उगला जहर, "भारत को बना लेंगे गुलाम, 10 घंटे में चीनी सेना दिल्ली में होगी"

चीन ने उन भारतीयों को भारी तोहफा दिया है जो
चीन के सामान को अब भी धड़ल्ले से खरीदते है और चीन को अरबों रुपए पहुंचा रहे है

भारत से बौखलाए चीन ने अपनी सरकारी मीडिया CCTV 
द्वारा भारत को बड़ी धमकी दी है
चीन ने कहा है कि, "भारत अपनी हद से बाहर जा रहा है और चीन के सब्र की परीक्षा ले रहा है
इस बार युद्ध हुआ तो चीनी सेना सकड़ के जरिये 10 घंटो में और चीन की वायु सेना पैराशूट के जरिये 2 घंटे में ही दिल्ली पर कब्ज़ा कर लेगी और भारत को गुलाम बना दिया जायेगा"

आपको बता दें कि बीते दिनों चीन ने पाकिस्तान को 2 युद्धपोत दिए है और पाकिस्तान ने दोनों युद्धपोत भारत की सीमा पर भी तैनात कर दिए है

जानकारों का मानना है कि चीन भारत से बौखलाया हुआ है और उसके कई कारण है
पहला तो ये की भारत की जीडीपी चीन से अधिक तेजी से बढ़ रही है, वही वर्ल्ड बैंक ने भी अगले 2 सालों के लिए चीन की जगह भारत को तरजीह दे दी

चीन घबराया हुआ है कि आने वाले समय में भारत एशिया में उसके सामने एक शक्ति न बन जाये

साथ ही साथ पिछले दिनों भारत ने अग्नि 5 नाम की मिसाइल का भी सफल परीक्षण कर लिया जिसकी रेंज में पूरा चीन है और जो परमाणु हथियार ले जाने में 100% सक्षम  

है

और इन्ही प्रमुख कारणों से चीन भारत को गुलाम बना लेने तक की धमकी दे रहा है।
6000 से अधिक सिखों को कांग्रेसियों ने मार डाला, फिर भी कांग्रेस के तलवे चाट रहे इन जैसे सिख

6000 से अधिक सिखों को कांग्रेसियों ने मार डाला, फिर भी कांग्रेस के तलवे चाट रहे इन जैसे सिख



जब जब पंजाब में चुनाव होते है, एक सवाल हमारे मन में खुद ही आ जाता है और वो ये की, 1984 के बाद भी सिख कांग्रेस को कैसे वोट देते है 

आपको ध्यान होगा 1984 में दिल्ली और देश के कई हिस्सों में कांग्रेस ने उसके जिहादी कार्यकर्ताओं ने सिखों का सामूहिक कत्लेआम किया था, सिख महिलाओ को चुन चुन कर बलात्कार किया गया था 
और यहाँ तक की, इंदिरा गाँधी के बेटे राजीव गाँधी ने सिखों के कत्लेआम को सही ठहराया था और कहा था की 

"जब कोई बड़ा पेड़ गिरता है तब धरती कांपती तो है ही"
यानि इंदिरा गाँधी को मारा गया है, तो सिख तो मरेंगे ही 

एक मुसलमान है जो बीजेपी को कभी वोट नहीं देते, जबकि सच्चाई ये है की, किसी भी अन्य राज्यों के मुकाबले मुसलमान बीजेपी शासित प्रदेशों में अधिक अमीर है, उदाहरण के तौर पर गुजराती मुस्लिम 
पश्चिम बंगाल के मुस्लिमो से कहीं आधी समृद्ध है 

मुसलमान किसी भी कीमत पर बीजेपी को वोट नहीं देते, मुसलमान तो विकास के लिए देश की प्रगति के लिए भी वोट नहीं देते, मुसलमान झुण्ड बनाकर एकजुट होकर केवल इसलिए वोट देते है की बीजेपी न आ सके 

पर सिख 1984 के बाद भी लगातार कांग्रेस को वोट देते है, यहाँ तक की नवजोत सिंह सिद्धू जैसे सिख 
बीजेपी को छोड़कर कांग्रेस में जाते है, जबकि आरएसएस ने 1984 में देश के कई हिस्सों में कांग्रेसी जिहादियों से सिखों का बचाव किया था 
फिर भी अमरिंदर सिंह, नवजोत सिंह सिद्धू जैसे सिख, कांग्रेस के तलवे चाटते है, कदाचित इसलिए आजतक सिखों को 1984 में न्याय नहीं मिल सका, और शायद कभी मिले भी न